Wednesday, 6 March 2019

author photo

ना सर्दी ना जुकाम, ना नमस्ते ना सलाम, सुबह होते ही हमारा सबसे पहला काम, एक प्यारा सा संदेश आपके नाम। सुप्रभात!



नाम आपका पल-पल लेता है कोई, याद आपको हर पल करता है कोई, एहसास तो शायद आपको भी है, कि दूर रह कर भी आपको हर पल याद करता है कोई। गुड मॉर्निंग!


नूर से आज चाँद भी शरमाया है, आप की दोस्ती ने ऐसा गजब ढाया है, ख़ुदा से क्या मांगू आपको, ख़ुदा ने भी खुद आप जैसा दोस्त मंगाया है। सुप्रभात!


नैनो के काजल से, महकती बहार से, इस गुल-ए-गुलज़ार से, दिल के हर तार से, बड़े ही प्यार से, कहते हैं आपको 'सुप्रभात'।


पानी की बूंदें फूलों को भिगो रही हैं, ठंडी लहरें एक ताज़गी जगा रही हैं, हो जाएँ आप भी इनमें शामिल, एक प्यारी सी सुबह आपको जगा रही है। सुप्रभात!


पैगाम है ये दिल से दिल तक, आसमां के तारों से समंदर के साहिल तक, हम तो साथ हैं ख़ुशी से ग़म तक, बस आप खुश रहें सुबह से शाम तक! सुप्रभात!


प्यारी सी मीठी सी निंदिया के बाद, रात के कुछ सपनों के बाद, सुबह की कुछ उम्मीदों के साथ, आपको प्यार भरी सुप्रभात! सुप्रभात!


प्यारी सी मीठी सी नींद के बाद, रात के कुछ हसीन लम्हों के बाद, सुबह की नयी सुनहरी किरणों के साथ, दुनिया में कुछ अपनों के साथ, आपको प्यारा सा सुप्रभात!


प्यारी-प्यारी सुबह है, बूँदों की बरसात है...हवा भी थोड़ी ठंडी है, मौसम भी अनुकूल है...प्यारी-प्यारी सुबह है, बस कहना सुप्रभात है। सुप्रभात!


प्यारे से दोस्त को सलाम हमारा, आप कैसे हैं, सवाल हमारा, याद करते रहेंगे यह वादा हमारा, फ़िलहाल कबूल कीजिए सुप्रभात हमारा! सुप्रभात!


फूल बिना खुशबू बेकार है, चाँद बिना चाँदनी बेकार है, प्यार बिना ज़िंदगी बेकार है, और मेरे सुप्रभात संदेश के बिना आपका दिन बेकार है। सुप्रभात!


फूलों की खुशबु से, बाग़ों की बहार से...इस गुल-ए-गुलज़ार से, दिल के हर तार से...बड़े ही प्यार से कहते हैं आपको सुप्रभात। सुप्रभात!


फूलों की तरह हंसते रहो, तो हम खुश हैं...दिल खोलकर जीते रहो, तो हम खुश हैं...यह नहीं कहते कि रोज मिलो...बस हर दिन याद कर लिया करो, तो हम खुश हैं। सुप्रभात!


फूलों की वादियों में हो बसेरा आपका, सितारों के आँगन में हो सवेरा आपका, दुआ है एक दोस्त की दोस्त के लिए, सबसे खूबसूरत हो सवेरा आपका! सुप्रभात!


फूलों की वादियों में हो बसेरा तेरा, सितारों के आँगन में हो घर तेरा, दुआ है एक दोस्त की एक दोस्त को, कि तुझसे भी खूबसूरत हो सवेरा तेरा...Good Morning...


फूलों की वादी में हो बसेरा आपका, सितारों के आँगन में हो घर आपका, दुआ है एक दोस्त की यही कि, सारे जहां से खूबसूरत हो सवेरा आपका। सुप्रभात!


फूलों ने अमृत का जाम भेजा है, सूरज ने गगन से सलाम भेजा है, मुबारक हो आपको नयी सुबह, तहे-दिल से हमने यह पैगाम भेजा है।


बहार आती है आपके गुन गुनाने से, फूल खिलते हैं आपके मुस्कुराने से, अब जाग भी जाओ, मेरे प्यारे दोस्त, क्योंकि हर सुबह होती है आपके चह-चहाने से। सुप्रभात!


बहारों का समय होता है आपके आने से, फूल खिलते हैं आपकी आहट से, ज्यादा मत सोईए जनाब, क्योंकि हर सुबह होती है आपके मुस्कुराने से। सुप्रभात!


बादल के साथ बरसात फ्री, सूरज के साथ रौशनी फ्री, चाँद के साथ तारे फ्री, और इस संदेश के साथ सुप्रभात फ्री! सुप्रभात!


बिन बादल बरसात नहीं होती, सूरज डूबे बिना रात नहीं होती, क्या करें अब कुछ ऐसे हालात हैं, आपको याद किये बिना दिन की शुरुआत नहीं होती। सुप्रभात!


बड़े अरमां से बनवाया है, इसे रौशनी से सजाया है...बहुत दूर से मंगवाया है...ज़रा खिड़की खोल के देखो...आपको सुप्रभात कहने सूरज आया है! सुप्रभात!


बढ़ते कदमो को ना रुकने दे ऐ मुसाफिर; चाहे रास्ता हो कठिन और मंज़िल हो दूर; चाहे ना मिले रास्ते में कोई हमसफ़र; फिर भी झुकना नहीं और पा लेना लक्ष्य को करके बाधाएं सारी दूर। सुप्रभात !


भीगे मौसम की खुशबु इन हवाओं में हो, आप की यादों का एहसास इन फ़िज़ाओं में हो, यूँ ही सदा रहे आपके चेहरे पे मुस्कुराहट, खुदा करे ऐसा असर हमारी दुआओं का हो। सुप्रभात!


भुला देना उसे जो रुला जाये, याद रखना उसे जो निभा जाये, वादा आपसे करेंगे बहुत लोग, मगर दिल की बात कहना उसी से, जिसके बिना एक पल भी न रहा जाये। गुड मॉर्निंग!


भूलकर आपको जायेंगे कहाँ, एक पल भी जमीं पर जी पायेंगे कहाँ, मुस्कुराहट है जिंदगी में, बिना आपके हम खुश रह पायेंगे कहाँ। गुड मॉर्निंग!


भोर प्रभात के होते ही सृष्टि सारी निखर गयी, रात के सारी घेराबन्धी, एक पल में ही बिखर गयी चढ़ कर आया जब सूरज ऊपर गगन में, फ़ैल गयी यह रौशनी सारे चमन में। सुप्रभात!


मिला है सब कुछ तो फरियाद क्या करें, दिल हो परेशान तो जज़्बात क्या करें, तुम सोचते होंगे कि आज याद नहीं किया, कभी भूले ही नहीं तो याद क्या करें। सुप्रभात!


मेरी दुआओं में शामिल है आप इस तरह, फूलों में होती है खुशबू जिस तरह, खुदा आपकी ज़िंदगी में इतनी खुशियां दे, धरती पे होती है बरसात जिस तरह। सुप्रभात!


मेरी हर एक साँस मे तेरी खुश्बू बस जाती है, हर साँस से पहले तेरी खुशबू आती है, सो कर उठता हूँ जब हर सुबह, तो दुआ से पहले तेरी याद आती है। सुप्रभात!


मौसम की बहार अच्छी हो, फूलों की कलियाँ कच्ची हों, हमारे ये रिश्ते सच्चे हों, ऐ रब तेरे से बस एक दुआ है, कि मेरे यार की हर सुबह अच्छी हो। सुप्रभात!


मौसम की बहार अच्छी हो, फूलों की कलियां कच्ची हो, हमारी यह दोस्ती सच्ची हो, बस एक ही दुआ है मेरे दोस्त की हर सुबह अच्छी हो। सुप्रभात!


यह भी एक दुआ है खुदा से, किसी का दिल न दुखे हमारी वजह से, ऐ खुदा कर दे कुछ ऐसी इनायत हम पे, कि खुशियां ही मिलें सबको हमारी वजह से। सुप्रभात!


ये भी एक दुआ है खुदा से, किसी का दिल ना दुखे मेरी वजह से, ऐ खुदा कर दे कुछ ऐसी इनायत मुझ पर, कि खुशियाँ ही खुशियाँ मिलें सबको मेरी वजह से। सुप्रभात!


ये राहें ले ही जाएंगी मंज़िल तक, हौंसला रख...कभी सुना है कि अँधेरे ने सवेरा होने न दिया हो। सुप्रभात!


ये सुबह जितनी खूबसूरत है उतना ही खूबसूरत आपका हर पल हो, जितनी भी खुशियां आज आप के पास हैं, उससे भी अधिक कल हो। सुप्रभात!


ये सुबह जितनी खूबसूरत है, उतना ही खूबसूरत आपका हर एक पल हो...जितनी भी खुशियाँ आपके पास आज हैं, उससे भी ज्यादा कल हों। सुप्रभात!


रहना तो चाहते थे साथ उनके, पर इस ज़माने ने रहने ना दिया, कभी वक़्त की ख़ामोशी में खामोश रहे, तो कभी उनकी खामोशी ने कुछ कहने ना दिया। सुप्रभात!


रहे सलामत ज़िंदगी उनकी, जो मेरी ख़ुशी की फरियाद करते हैं...ऐ खुदा उनकी ज़िंदगी खुशियों से भर दे, जो मुझे याद करने के लिए अपना एक पल बर्बाद करते हैं। सुप्रभात!


रात की तन्हाई में तो हर कोई याद कर लेता है ए दोस्त, सुबह उठते ही जो याद आये दोस्ती उसे कहते हैं। सुप्रभात!


रात की मीठी सी नींद के बाद, रात के कुछ सुनहरे लम्हों के बाद, सुबह के कुछ हसीन सपनों के साथ, ज़िंदगी में कुछ प्यारे अपनों के साथ, आप को हमारी ओर से सुप्रभात।


रात गुजरी फिर महकती सुबह हे आई , दिल धडका फिर आपकी याद हे आई, आँखो ने महसूस किया हे उस हवा को , जो छु कर हमारे पास हे आई...!!" ****** सुप्रभात *********


रात गुजारी फिर महकती सुबह आई, दिल धड़का फिर तुम्हारी याद आई, आँखों ने महसूस किया उस हवा को, जो तुम्हें छू कर हमारे पास आई। सुप्रभात!


रात गुज़री फिर महकती सुबह आई, दिल धड़का फिर आपकी याद आई, आँखों ने महसूस किया उस हवा को, जो आपको छू कर हमारे पास आई। सुप्रभात!


रात ढली, चाँद थका, समय ने ली अँगड़ाई है...प्रकृति के हर कण में जीवन भरने, अब स्वर्णिम किरणे आई हैं। सुप्रभात!


रात ने चादर समेट ली है, सूरज ने किरने बिखेर दी हैं, चलो उठो और धन्यवाद करो अपने भगवान का, जिसने हमें यह प्यारी सी सुबह दी है। सुप्रभात!


रात ने चादर समेत ली है, सूरज ने किरणें बिखेर दी हैं, चलो उठो और शुक्रिया करो उस भगवान का, जिसने हमे यह प्यारी सी सुबह दी है। सुप्रभात!


रात पे सवेरा छा गया, सूरज रौशनी के साथ आ गया, यह माहौल सुबह का सब को भा गया, और आप ने आँख खोली तो सन्देश हमारा आ गया। सुप्रभात!


लबों पे मुस्कान, आँखों में ख़ुशी ग़म का कहीं नाम ना हो...हर दिन लाये आप के लिए इतनी खुशियाँ, जिसके ढलने की कोई शाम न हो। सुप्रभात!


लम्हों की एक किताब है ज़िन्दगी, साँसों और ख्यालों का हिसाब है ज़िन्दगी, कुछ ज़रूरतें पूरी, कुछ ख्वाहिशें अधूरी, बस इन्ही सवालों का जवाब है ज़िन्दगी। सुप्रभात!


लो आज हम ने आप को पहले याद किया, इस खूबसूरत सुबह को आप के नाम किया, अच्छा गुज़रे यह दिन आप का, दिल से हमने यह पैगाम दिया। सुप्रभात!


लोग कहते हैं कि सुबह-सुबह अच्छे लोगों को याद करने से दिन अच्छा गुज़रता है। इसलिए मैंने सोचा कि आपको अपनी याद दिल दूँ। सुप्रभात!


विक्लप बहुत हैं बिखरने के लिए, संकल्प एक ही काफी है संवरने के लिए। सुप्रभात!


शुकर मान के मेने तुझसे कभी "मुलाकात" नहीं कि.... !! वरना !! "तेरे दिल को तेरे खिलाफ कर देता"..._  Gud morning


सजती रहे खुशियों की महफ़िल, लेकिन हर ख़ुशी सुहानी रहे, आप जिंदगी में इतने खुश रहें, कि हर ख़ुशी आपकी दीवानी रहे। सुप्रभात!


सजती रहे खुशियों की महफ़िल, हर महफ़िल ख़ुशी से सुहानी बनी रहे, आप ज़िंदगी में इतने खुश रहें कि, ख़ुशी भी आपकी दीवानी बनी रहे। सुप्रभात!


सपनो के जहाँ से अब लौट आऔ, हुई हे सुबह अब जाग जाओ, चांद --तारों को अब कह कर अलविदा , इस नए दिन की खुँशियों मे खो जाओ..!!!!


सपनो के जहाँ से अब लौट आऔ, हुई हे सुबह अब जाग जाओ, चांद – तारों को अब कह कर अलविदा, इस नए दिन की खुँशियों मे खो जाओ ! Wish You Lovely Good Morning!!!


सलाम-ए-सुबह, 'नेकी' करके उसे ऐसे भूल जाया करो, जैसे 'गुनाह' के वक्त अपने 'रब' को भूल जाते हो। गुड मॉर्निंग!


सिर्फ आसमान छू लेना ही कामयाबी नहीं है, असली कामयाबी तो वो है कि आसमान भी छू लो और पाँव भी ज़मीन पर हों। सुप्रभात


सुकून हो तुम्हारे दिल में इस तरह, फूलों में होती है खुश्बू जिस तरह, खुदा तेरी ज़िंदगी में इतनी खुशियां, धरती पे होती है बारिश जिस तरह। सुप्रभात!


सुना है किसी को सुप्रभात कहो तो उसकी सुबह अच्छी होती है, पर हमने तो यह महसूस किया है कि 'सुप्रभात' आपको कहें तो दिन हमारा अच्छा होता है। सुप्रभात!


सुप्रभात का उजाला सदा आपके साथ हो, हर दिन का एक एक-पल आपके लिए कुछ ख़ास हो, दुआ हमेशा निकलती है दिल से आप के लिए, बस खुशियों का खज़ाना आपके पास हो। सुप्रभात!


सुप्रभात का उजाला सदा आपके साथ हो, हर दिन का एक-एक पल आप के लिए कुछ ख़ास हो, दुआ हमेशा निकलती है दिल से आपके लिए, ढेर खुशियों का खज़ाना आपके पास हो। सुप्रभात!


सुबह का उजाला सदा आपके साथ हो, हर दिन का एक-एक पल आपके लिए ख़ास हो, दुआ हमेशा निकलती है दिल से आपके लिए, सारी खुशियों का खज़ाना आपके पास हो। सुप्रभात!


सुबह का उजाला हर आपके साथ हो, हर दिन का एक-एक पल आपके लिए कुछ खास हो, दुआ हर पल निकलती है सच्चे दिल से, ढेरों खुशियों का खज़ाना आपके पास हो। सुप्रभात!


सुबह का मौसम और आपकी याद, हलकी सी ठंडक और चाय की प्यास, यारों की यारी और यारी की मिठास, शुरू कीजिए अपना दिन मेरी सुप्रभात के साथ। सुप्रभात!


सुबह का मौसम जैसे जन्नत का एहसास, आँखों में नींद और चाय की तलाश, जागने की मज़बूरी थोड़ा और सोने की आस, पर आपका दिन शुभ हो हमारी सुप्रभात के साथ। सुप्रभात!


सुबह का मौसम जैसे जन्नत का एहसास, आँखों में नींद और चाय की तलाश, जागने की मज़बूरी, थोड़ा और सोने की आस, पर आपका दिन शुभ हो हमारी सुप्रभात के साथ। सुप्रभात!


सुबह का हर पल ज़िंदगी दे आपको दिन का हर लम्हा खुशी दे आपको जहा गम की हवा छू कर भी न गुज़रे खुदा वो जन्नत से ज़मीन दे आपको..


सुबह का हर पल ज़िंदगी दे आपको दिन का हर लम्हा खुशी दे आपको जहा गम की हवा छू कर भी न गुज़रे खुदा वो जन्नत से ज़मीन दे आपको...


सुबह का हर पल ज़िंदगी दे आपको दिन का हर लम्हा खुशी दे आपको जहा गम की हवा छू कर भी न गुज़रे खुदा वो जन्नत से ज़मीन दे आपको... ..


सुबह का हर पल ज़िंदगी दे आपको, दिन का हर लम्हा खुशी दे आपको, जहाँ ग़म की हवा छू कर भी न गुज़रे, ख़ुदा वो जन्नत सी ज़मीन दे आपको।सुप्रभात


सुबह की किरण बोली मुझसे, उठकर देखो कितना हसीन नज़ारा है...मैंने कहा रुक पहले उसे SMS तो कर लूँ, जो इस सुबह से भी प्यारा है। गुड मॉर्निंग!


सुबह की ताज़ी हवाओं के साथ, सूरज की रौशनी, भीनी-भीनी खुश्बू के साथ, मुबारक़ हो आपको एक नए और कामयाब दिन की शुरआत। सुप्रभात!


सुबह की हर धूप कुछ याद दिलाती है; हर महकती खुशबू एक जादू जगाती है; कितनी भी व्यस्त क्यों ना हो यह ज़िन्दगी; सुबह सुबह अपनों की याद आ ही जाती है। सुप्रभात!


सुबह की हलकी रौशनी, परिंदो के सुरीले गीत, हवा के मधेयम झोंके, रंग बिरंगे फूलों की दीद। सुप्रभात!


सुबह के फूल खिल गए, पंछी अपने सफ़र पे उड़ गए, सूरज के आते ही तारे छुप गए, क्या आप भी मीठी नींद से उठ गए! सुप्रभात!


सुबह में कोई मेरा संदेश आए तो, यूँ ना समझना मैने आपको परेशान किया, इसका मतलब है आप वो ख़ास हैं, जिसे मैंने अपनी आँखें खुलते ही याद किया! सुप्रभात!


सुबह शाम तेरी चाहत करूँ, तुझसे ना कभी कोई शिकायत करूँ, तेरे हसीं लबों पे यूं ही मुस्कान बरक़रार रहे सदा, मुझमे समाये रहो मेरी धड़कन बनकर, चाहकर भी तुझको खुद से जुदा ना करूँ। सुप्रभात!


सुबह सुबह ज़िन्दगी की शुरुआत होती है, किसी अपने से बात हो तो खास होती है, हंस के प्यार से अपनों को सुप्रभात बोलो तो, खुशियाँ अपने आप साथ होती हैं! सुप्रभात!


सुबह सुबह ज़िन्दगी की शुरुआत होती है, किसी अपने से बात हो तो हर सुबह खास होती हैं, हंस के प्यार से अपनों को सुप्रभात बोल दो, फिर तो ख़ुशी अपने आप साथ होती है। सुप्रभात!


सुबह होते ही जब दुनिया आबाद होती है, आँख खुलते ही आपकी याद आती है, खुशियों के फूल हो आपके आँचल में, ये मेरे होंठों पर पहली फ़रियाद होती है। सुप्रभात!


सुबह होते ही जब दुनिया आबाद होती है, आँख खुलते ही आपकी याद आती है, खुशियों के फूल हों आपके आँचल में, मेरे होंठों पे यही पहली फरियाद होती है। सुप्रभात!


सुबह होते ही जब दुनिया आबाद होती है, आँख खुलते ही आपकी याद होती है, खुशियों के फूल हों आपके आँचल में, मेरे होठों पे यही पहली फ़रियाद होती है। सुप्रभात!


सुबह होते ही जब दुनिया आबाद होती है, आँख खुलते ही आपकी याद होती है, खुशियों के फूल हों आपके आँचल में, ये मेरे होंठों पे पहली फरियाद होती है। सुप्रभात!


सुबह होते ही जब दुनिया आबाद होती है, आँख खुलते ही तस्वीर आपकी सामने होती है, खुशियों के फूल हों आपके आँचल में, मेरे होठों पे बस यही पहली फरियाद होती है। सुप्रभात!


सुबह-सुबह आपको एक पैगाम देना है, आपको सुबह का पहला सलाम देना है, गुज़रे सारा दिन खुशियों में आपका, आपकी सुबह को खूबसूरत सा नाम देना है। सुप्रभात!


सुबह-सुबह आपको सताना अच्छा लगता है, प्यारी नींद से जगाना हमें अच्छा लगता है, जब याद किसी की आती हैं हमें, तो उसे अपनी याद दिलाना भी अच्छा लगता है। सुप्रभात!


सुबह-सुबह एक पैगाम देना है, आपको सुबह का पहला सलाम देना है, गुज़रे सारा दिन आपका ख़ुशी में, आपकी सुबह को खूबसूरत सा नाम देना है। सुप्रभात!


सुबह-सुबह की पहली सुनहरी किरण, मेरे ऊपर आई और कान में धीरे से कहा, कि चलो अब जल्दी से उठ जाओ, दोस्तों को तंग करने का टाइम हो गया है| सुप्रभात!


सुबह-सुबह जब भी आपका मैसेज आये तो, यूँ ना समझना मैंने आपको परेशान किया, इसका मतलब है आप वो ख़ास हैं, जिसे मैंने अपनी आँख खुलते ही याद किया। सुप्रभात!


सुबह-सुबह पलंग से उठ कर, रात की मीठी सी नींद के बाद, सुबह की ताज़ी किरणों के साथ, हम आपको कहते हैं "गुड मॉर्निंग" अपने प्यारे से SMS के साथ।


सुबह-सुबह सूरज का साथ हो, गुन-गुनाते पंछी की आवाज़ हो, हाथ में कॉफ़ी और यादों में कोई ख़ास हो, उस सुबह की पहली याद आप हो! सुप्रभात!


सुबह-सुबह सूरज का साथ हो, गुनगुनाते परिंदो की आवाज़ हो, हाथ में चाय का कप और यादों में कोई खास हो, दुआ है ये हमारी कि उस ख़ूबसूरत सुबह की पहली याद आप हों। सुप्रभात!


सुबह-सुबह सूरज का साथ हो, गुनगुनाते परिंदों की आवाज़ हो, लबों पे दुआ-फरियाद हो, और दुआ में भी आपका नाम हो। सुप्रभात!


सुबह-सुबह सूरज का साथ हो, परिंदों की आवाज़ हो, हाथ में चाय और यादों में आप हो, उस खुशनुमा सुबह की क्या बात हो! सुप्रभात!


सुबह-सुबह ही लग गया है खुशियों का मेला, ना रहे कोई ग़म ना आये कोई झमेला, मधुर संगीत पंछियों का, है मौसम अलबेला, मुबारक हो आपको यह नया सवेरा। सुप्रभात!


सुबह-सुबह हो खुशियों का मेला, न लोगों की परवाह न दुनिया का झमेला, पंछियों का संगीत और मौसम अलबेला, मुबारक हो आपको यह नया सवेरा। सुप्रभात!


सुबह-सुबह ज़िंदगी की शुरुआत होती है...किसी अपने से बात ख़ास होती है...हँस के प्यार से याद अपनों को करो...तो खुशियाँ अपने आप साथ होती हैं। सुप्रभात!


सुहानी सुबह में सूरज का साथ हो, गुन-गुनाते पंछियों की आवाज हो, हाथ में चाय का प्याला हो, और मन में एक दूसरे की याद हो, ऐसी ही हमारी और तुम्हारी सुप्रभात हो। सुप्रभात!


सूरज आता है नयी उम्मीदों की किरणें लेकर, हर नया दिन आता है नयी कामयाबियाँ लेकर, आपका हर दिन आये आपके लिए ढेर सारी खुशियां लेकर। सुप्रभात!


सूरज आता है नयी उम्मीदों की किरणें लेकर, हर नया दिन आता है नयी कामयाबियां लेकर, आपका हर दिन आये आपके लिए ढेर सारी खुशियाँ लेकर। सुप्रभात!


सूरज की किरण रौशनी लाती है, उठते ही आपकी याद आती है, हम तो जाग गए आपकी यादों की दस्तक से, अब देखना है आपको हमारी याद कब आती है। सुप्रभात!


सूरज की पहली किरण ख़ुशी दे आपको, दूसरी किरण हँसी दे आपको, तीसरी तंदरुस्ती और कामयाबी, बस अब ज्यादा नहीं वरना गर्मी लगेगी आपको। सुप्रभात!


सूरज की पहली किरण ख़ुशी दे आपको, दूसरी किरण हंसी दे आपको, तीसरी किरण तंदरुस्ती और कामयाबी, बस अब ज्यादा नहीं, वरना गर्मी लगेगी आपको। सुप्रभात!


सूरज की पहली किरण, दिन का पहला पहर...पंछियों की पहली चहचहाट, धूप का पहला रंग...हवा की ठंडी सनसनाहट, सुबह का पहला खुमार। हमारी तरफ से आप सब को सुप्रभात! सुप्रभात!


सूरज के बिना सुबह नहीं होती, चाँद के बिना रात नहीं होती, बादल के बिना बरसात नहीं होती, आपकी याद के बिना दिन की शुरुआत नहीं होती। सुप्रभात!


सूरज तू उनको मेरा पैगाम देना, ख़ुशी का दिन और हंसी की सुबह देना, जब वो देखें तुझे बाहर आकर, तो उनको मेरा सुप्रभात कहना।


सूरज निकल रहा है पूरब से, दिन शुरू हुआ आपकी याद से, कहना चाहते हैं हम आपको दिल से, आपका दिन अच्छा जाये हमारे सुप्रभात से। सुप्रभात!


सूरज निकल रहा है पूरब से, दिन शुरू हुआ आपकी याद से, कहना चाहते हैं हम आपको दिल से, हर दिन हो जाये अच्छा आपकी प्यारी सी मुस्कान से। सुप्रभात!


सेवा करने की शिक्षा सूर्य से लेनी चाहिए, जो हमेशा नित्य प्रतिदिन संसार को रौशन करने के लिए प्रकट हो जाता है। सुप्रभात!


हँसना और हँसाना कोशिश है मेरी, हर कोई खुश रहे यह चाहत है मेरी, भले ही कोई मुझे याद करे या ना करे, हर अपने को याद करना आदत है मेरी। सुप्रभात!


हंसी आपकी कोई चुरा ना पाये, आपको कभी कोई रुला ना पाये, खुशियों का दीप ऐसे जले ज़िंदगी में, कि कोई तूफ़ान भी उसे बुझा ना पाये। सुप्रभात!


हमारे ख्वाब और हमारी उमीदें, हमारे नाखूनों और बालों जैसी होनी चाहिए। जितना भी काटो हमेशा बढ़ते रहते हैं। सुप्रभात!


हर इनायत हर ख़ुशी आपकी हो...महक उठे वो महफ़िल जिसमे हँसी आपकी हो...कोई भी लम्हा आप उदास न हों...खुदा करे जन्नत जैसी ज़िंदगी आपकी हो। सुप्रभात!


हर नयी सुबह का नया नया नज़ारा, ठंडी सी हवा लेकर आई है पैगाम हमारा, जागो, उठो, हो जाओ तैयार, मिलने को खुशियाँ तुमसे कब से कर रही हैं इंतज़ार। सुप्रभात!


हर पल आपको खुशियों की सौगात मिले, नयी सुबह में नयी उमीदों का आग़ाज़ मिले, मुश्किलों का न करना पड़े सामना कभी, मंज़िल तक पहुँचने के लिए ऐसा रास्ता मिले। सुप्रभात!


हर पल में प्यार है, हर लम्हे में ख़ुशी है...खो दो यादें हैं जी लो तो ज़िंदगी है। सुप्रभात!


हर फूल आपको अरमान दे, हर सुबह आपको सलाम दे, अगर आपका एक आँसू भी निकले, तो खुदा आपको उससे दोगुनी मुस्कान दे। सुप्रभात।


हर फूल मुबारक हो तुमको, हर बहार मुबारक हो तुमको, शायद कल हम रहे न रहें, पर हर दिन मुबारक हो तुमको। सुप्रभात!


हर फूल मुबारक़ हो तुम को, हर बहार मुबारक़ हो तुम को, शायद कल हम रहें या न रहें, पर दुआ है कि हर दिन मुबारक़ हो तुम को। सुप्रभात!


हर सुबह आपको सलाम दे, हर फूल आपको मुस्कान दे, करते हैं यह दुआ हम खुदा से, खुदा आपको नए सवेरे के साथ कामयाबी का आसमान दे। सुप्रभात!


हर सुबह आपको सलाम दे, हर फूल आपको मुस्कान दे, हम दुआ करते हैं कि, ख़ुदा आपको नए सवेरे के साथ क़ामयाबी का नया आसमान दे। गुड मॉर्निंग!


हर सुबह आपको सलाम दे, हर फूल आपको मुस्कान दे, हम दुआ करते हैं कि, ख़ुदा आपको नए सवेरे के साथ क़ामयाबी का नया आसमान दे। सुप्रभात!


हर सुबह की धुप कुछ याद दिलाती है, हर फूल की खुश्बू एक जादू जगाती है, मानो या ना मानो पर सच है मेरे यार, सुबह होते ही मेरी याद आती है। सुप्रभात!


हर सुबह की धूप कुछ याद दिलाती है, हर फूल की खुशबू एक जादू जगाती है, तुम मानो न मानो पैर यह सच है मेरे यार, सुबह होते ही तुम्हारी याद आ जाती है। सुप्रभात!


हर सुबह कुछ ख़ास हो, आँखों में थोड़ी आस हो, सपने जो देखे रात में, हो जायें सच ऐसा खुशनुमा एहसास हो। सुप्रभात!


हर सुबह तेरी मुस्कुराती रहे, हर शाम तेरी गुनगुनाती रहे, मेरी दुआ हैं की तू जिस भी मिलें, हर मिलने वाले को तेरी याद सताती रहे। सुप्रभात!


हर सुबह तेरी ज़िंदगी में नयी रौशनी हो, ग़मों का कहीं नाम न हो हर जगह ख़ुशी ही ख़ुशी हो, अगर आ जाये कभी कोई मुसीबत, तुझसे मिलने से पहले वो मेरे रु-ब-रु हो। सुप्रभात!


हर सुबह निकल पड़ता है जो खुद की तलाश में, वो खोई हुई सी एक पहचान हूँ मैं, ना आँखों में ख्वाब है ना दिल में तमन्ना कोई, अपनी बनाई हुई राहों से ही अनजान हूँ मैं। सुप्रभात!


हो आपकी ज़िन्दगी में खुशियों का मेला, कभी न आये कोई भी झमेला, सदा सुखी रहे आपका बसेरा, मुबारक हो आपको यह नया सवेरा। सुप्रभात!


ख़ुशी का हर पल हो तुम्हारे लिए, बहारों का गुलिस्तां हो तुम्हारे लिए, कामयाबी की मंज़िल हो तुम्हारे लिए, बस एक पल तुम्हारा हो हमारे लिए! सुप्रभात!


ज़िंदगी कितनी खूबसूरत है? यह देखने के लिए हमे ज्यादा दूर जाने की ज़रुरत नहीं है। जहाँ हम अपनी आँखें खोल लें, वहीं हम इसे देख सकते हैं। सुप्रभात!


ज़िंदगी किसी के लिए नहीं रूकती, बस जीने की वजह बदल जाती है। सुप्रभात!


ज़िंदगी जीने का मकसद ख़ास होना चाहिए, और अपने आप में हमेशा विश्वास होना चाहिए, जीवन में खुशियों की कमी नहीं है दोस्तो, बस खुशियों को मनाने का अंदाज़ होना चाहिए। सुप्रभात!


ज़िंदगी हसीन है इससे प्यार करो, हर रात की नयी सुबह का इंतज़ार करो, वो पल भी आएगा जिसका आपको इंतज़ार है, बस अपने रब पर भरोसा और वक़्त पर ऐतबार करो। सुप्रभात!


ज़िन्दगी गुज़रे आपकी हँसते-हँसते, प्यार और ख़ुशी मिले रस्ते-रस्ते, हो मुबारक आपको नया सवेरा, क़बूल करें हमारी सलाम-नमस्ते। गुड मॉर्निंग!


फ़िज़ा बनकर आपके करीब आये हैं, एक प्यारी सी सुबह आपके लिए लाये हैं, नयी उम्मीदों के साथ जीवन की शुरुआत कीजिये, हज़ारों दुआएं अपने साथ लाये हैं। सुप्रभात!


फ़िज़ा बनकर आपके करीब आये हैं, एक प्यारी सुबह आपके लिए लाए हैं, नई उम्मीदों के साथ जीवन की नई शुरुआत कीजिए, हज़ारों दुआ अपने संग लाए हैं। सुप्रभात!


“Nayi Subah” Ka Naya Nazara, “Thandi Hawa” Leke Aayi Paigam Hamara, Jago Utho Taiyar Ho Jao, “Khushiyon” Se Bhara Ho Aaj Ka Din Tumhara. @@@~~ Good Morning ~~@@@

This post have 0 Comments


EmoticonEmoticon

Next article Next Post
Previous article Previous Post